सिग्मंड फ्रायड (Sigmund Freud) दुनिया के महान मनोविश्‍लेषक

By | September 25, 2015

images (3)

दुनिया के महान मनोविश्‍लेषक सिग्मंड फ्रायड ने अलग तरह से इंसानी दिमाग को समझने की कोशिश की, जिसकी वजह से उनको फादर ऑफ साइकोएनालिसिस भी कहा जाता है. जानें उनके विचार जो कई ऐसी गुत्थियों को सुलझाते हैं, जिन्‍हें हम रोजाना महसूस करते हैं.

  1. ज्यादातर लोग वास्तव में स्वतंत्रता नहीं चाहते क्योंकि स्वतंत्रता के साथ जिम्मेदारी आ जाती है, और ज्यादातर लोग जिम्मेदारी से डरते हैं.
  2. अगर तुम नहीं कर सकते हो तो छोड़ दो!
  3. मनुष्य जितना सोचता है उससे कहीं ज्यादा नैतिक है, और वो इतना अनैतिक है कि वो उसकी कल्पना भी नहीं कर सकता.
  4. प्रेम और काम…काम और प्रेम, बस यही तो है.
  1. अपने साथ पूरी तरह ईमानदारी बरतना बहुत अच्छा होता है.
  2. जिस तरह किसी को आस्था के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता , उसी तरह किसी को नास्तिकता के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता.
  3. मनुष्य तब तक शक्तिशाली है जब तक वह किसी सशक्त योजना का प्रतिनिधित्व करता है , और जब वह इसका विरोध करता है तो निर्बल हो जाता हैं.
  4. सपने हमारे मन के भीतर छिपी किसी दबी आशा, निराशा और अभिलाषा की तरफ इशारा करते हैं.
  5. 9. हर जीवन का लक्ष्य मृत्यु है.
  6. अनकहे भाव कभी नहीं मरते. वे मन में जिंदा दफन हो जाते हैं और बाद में एक खतरनाक तरीके से सामने आते हैं.

Thanks

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *